गुरुवार 02 अक्तूबर, 2014
  
 ताजा खबरे  »  लोडिंग न्यूज प्रतीक्षा करे
   
कॉलेज बढ़े पर उत्कृष्टता हुई कम
बुधवार 28 दिसम्बर, 2011 12:19:49 PM
0  0     
Go
 
 
 0 Comments
  
    
जबलपुर। स्कूल, कॉलेज सहित कई शिक्षण संस्थानों की मौजूदगी के कारण 19वीं सदी में जबलपुर मध्य भारत में शिक्षा के अग्रणी केंद्र के रूप में उभरा। इस दौर के सेंट अलॉयसियस, क्राइस्ट चर्च, सेंट जोसेफ कॉन्वेंट और मॉडल स्कूल की साख आज भी बरकरार है। शिक्षा के एक बड़े केंद्र के रूप में पहचान 1916 में रोबर्टसन कॉलेज की स्थापना से हुई। यहीं संस्थान आजादी के बाद गर्वनमेंट साइंस कॉलेज के रूप में जाना गया। यहीं से प्रदेश के सबसे पुराने तकनीकी संस्थान में शुमार जबलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज की शुरूआत हुई। कालांतर में आचार्य विनोबा भावे ने शहर को संस्कारधानी की संज्ञा दी। बस यहीं से संस्कारधानी, शिक्षाधानी बनने के सफर पर चल पड़ी। इसे गुरू गोबिंद सिंह खालसा और हितकारिणी सभा ने कुछ हद तक आगे भी बढ़ाया, लेकिन वक्त के साथ हम दूसरे शहरों से पिछड़ते चले गए। आज पांच विश्वविद्यालय, 25 तकनीकी शिक्षण संस्थानों के साथ ही शहर में छोटे-बडे मिलाकर उच्च शिक्षा के तकरीबन 150 केंद्र है। और तकरीबन आधा सैकड़ा कोचिंग इंस्टीट्यूट के बावजूद भी एजुकेशन हब के दर्जे की कसक अभी भी बाकी है। गुणवत्ता और विकल्पों के अभाव में बेहतर शिक्षा हासिल करने के लिए बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं भोपाल, इंदौर, पुणे, बैंगलुरू, नई दिल्ली का रूख करने को मजबूर है। स्कूलों और कॉलेजों में दाखिला लेने वालों की संख्या में इजाफा जरूर हुआ है, लेकिन रोजगारोन्मुखी और आधुनिक पाठ्यक्रमों के अभाव में रोजगार का संकट बना हुआ है। अगर हमें वाकई शहर को एजुकेशन हब बनाना है तो उद्योगों की तर्ज पर एजुकेशन कलस्टर बनाना होगा उच्च शिक्षण संस्थानों की स्थापना में निजी समूहों की भागीदारी तय करनी होगी। प्रशासन को भी नीतियों में बड़े बदलाव करने होंगे। महाकोशल के अंतर्गत बड़े आदिवासी और पिछड़े क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले शहर में नामी शिक्षण और शोध संस्थानों की स्थापना के लिए रियायत और विशेष पैकेज देने होंगे।
 संबंधित खबरें / आर्टिकल

  आपके विचार (0)
Add numbers 7 + 7
 
लोडिंग न्यूज प्रतीक्षा करे
लोडिंग न्यूज प्रतीक्षा करे
लोडिंग न्यूज प्रतीक्षा करे
लोडिंग न्यूज प्रतीक्षा करे
 


मुख्य समाचार
राष्ट्रीय समाचार
खेल समाचार
क्षेत्रीय समाचार
राजधानी समाचार
प्रादेशिकी समाचार
मध्य प्रदेश
भोपाल
ग्वालियर
बुलेटिन समाचार
आलेख
विविध
हमारे बारे में
हमारे बारे में
संपर्क करें
हमारे साथ विज्ञापन
फीडबैक
साइटमैप
मनोरंजन
फोटो गैलेरी
वीडियो गैलेरी
राशिफल
आज का विचार
आपका मत

Designed and Developed by Synques Consultancy Pvt Ltd, Copyright 2011 Samaachaar, Bhopal, All Rights Reserved.